आर्यिका श्री १०५ सूत्रमति माता जी

पूर्व का नाम :                         बाल ब्रह्मचारिणी सोना जी  

पिता का नाम :                       स्व.श्री हल्कूलाल जी जैन 

माता का नाम :                      श्रीमती मथुरा बाई जी  जैन  

भाई – बहिन के नाम              (१) श्री नन्हेलाल  (२) श्रीमति गुणमाला      

जन्म के क्रम से :                  (३) श्री सनत (४) आपका क्रम

जन्म/ दिनांक/तिथि             ०१-०७-१९६८, भाद्र कृष्ण १२, वी.सं. २०२५ ,              

दिन/स्थान/समय :               सोमवार,बंडा बेलई, जिला – सागर (म.प्र.)            

शिक्षा (लौकिक/धार्मिक) :      हायर सेकेण्डरी    

ब्रह्मचर्य व्रत दिनांक/            ०१-०४-१९८७ पिपरिया , तह.              

दिन/तिथि/स्थान :               बंडा, जिला सागर (म.प्र.)           

प्रतिमा (कब/कहाँ):              सात प्रतिमा श्री दिगम्बर जैन सिद्धक्षेत्र मांगीतुंगी जी मे १९९७, नासिक (महाराष्ट्र)           

आर्यिका दीक्षा दिनांक/         ०६-०६-१९९७ ज्येष्ठ शुक्ल १ वी.सं. २०५४ श्री दिग. जैन   

दिन/तिथि/स्थान :              सिद्धोदय सिद्धक्षेत्र रेवातट नेमावर जिला देवास (म.प्र.) 

 दीक्षा गुरु :                           आचार्य श्री १०८ विद्यासागर जी महाराज

वर्तमान मे संघस्थ :              आर्यिका श्री १०५ गुरुमति माताजी  

 विशेष :                               आपकी सीधी आर्यिका दीक्षा हुई| आपके गृहस्थ जीवन के भतीजे मुनि श्री १०८ नीरोगसागर जी है, आर्यिका श्री १०५ कर्तव्यमति जी आप दोनों चचेरी बहिन है एवं आप                                                   सभी एक ही गुरु से दीक्षित है |